स्कूल ने बनाया मीना गुल्लक बैंक,जरूरतमंद बच्चों काे मिलेगी सहायता

सामुदायिक सहयोग के लिए पूर्व माध्यमिक विद्यालय बाबा मठिया के शिक्षक की अभिनव पहल

गोंडा। निर्धन बच्चों को आर्थिक सहायता देकर उन्हे शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए पूर्व माध्यमिक विद्यालय बाबा मठिया के शिक्षक सुनील आनन्द ने अभिनव पहल की है। सुनील ने स्कूल में मीना गुल्लक बैंक स्थापित किया है। इस गुल्लक बैंक मे जमा होने वाली धनराशि को गरीब व जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा पर खर्च किया जाएगा।

वजीरगंज के पूर्व माध्यमिक विद्यालय बाबा मठिया के शिक्षक सुनील आनंद अपने नवाचारों के लिए जाने जाते हैं। पढ़ाई मे बच्चों की रुचि जागृत करने के लिए वह प्रतिदिन कुछ न कुछ नया प्रयोग करते रहते हैं। अब सुनील ने स्कूल में सामुदायिक सहभागिता बढ़ाने के लिए एक अभिनव पहल की है। उन्होंने गरीब व जरूरतमंद बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए अपने स्कूल में मीना गुल्लक बैंक स्थापित किया है। अपने इस पहल की जानकारी देते हुए सुनील आनन्द ने बताया कि गांव में अक्सर पैसे के अभाव मे अभिभावक बच्चों की पढ़ाई बंद करा देते हैं। इस समस्या के समाधान के लिए स्कूल में मीना गुल्लक बैंक स्थापित किया गया है। माडल मीना मंच की पावर एंजिल रुचि मौर्य के पास इस गुल्लक की चाभी रहेगी। इस गुल्लक बैंक मे जो भी धनराशि जमा होगी उसे जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा पर खर्च किया जाएगा। सुनील ने खुद 100 रुपये इसमे जमा कर गुल्लक बैंक की शुरूआत की।

सामुदायिक सहभागिता को मिलेगा बल

सुनील की इस पहल के सामुदायिक सहभागिता को बल मिलेगा और समाज के जागरूक लोग इस गुल्लक बैंक के जरिए बच्चों का सहयोग कर सकेंगे। सुनील ने बताया कि जब वह गुल्लक लेने फर्नीचर की दुकान पर गए और दुकानदार को गुल्लक खरीदने के अपने उद्देश्य के बारे मे बताया तो दुकानदार देवेन्द्र ने उनसे गुल्लक की कीमत नहीं ली। देवेंद्र ने अपनी तरफ से 21 रुपये भी गुल्लक मे डाले। स्कूल स्टाफ अनिल कौशल,रमेश कुमार, प्रधानाध्यापिका कुसुमावती देवी समेत अभिभावकों ने भी उत्सुकता बच्चों के लिए गुल्लक में पैसे डालकर सहयोग किया। सुनील का कहना है कि इससे सामुदायिक सहभागिता को बल मिलेगा और प्रतिबद्धता बच्चों को सहायता भी मिल सकेगी।

सुनील की पहल को अफसरों ने सराहा

स्कूल मे मीना गुल्लक बैंक स्थापित किए जाने की सुनील की पहल को अफसरों ने भी सराहा है। यूनिसेफ की एसपीओ डा सरिता सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मनिराम सिंह व बालिका शिक्षा समन्वयक रजनी श्रीवास्तव ने कहा कि यह पहल सभी के लिए प्रेरणास्रोत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular News

Breaking News