घर बुलाया,शराब पिलाई और मुंह दबाकर मार डाला

नई दोस्ती की राह में रोड़ा बने पुराने आशिक को मिली मौत

प्रदीप गुप्ता हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा, प्रेमिका गिरफ्तार

गोंडा। कोतवाली नगर क्षेत्र के विष्णुपुरी कालोनी के रहने वाले प्रदीप गुप्ता की मुंह दबाकर हत्या की गई थी। यह हत्या उसके किसी दुश्मन ने नहीं बल्कि उसकी महिला मित्र ने अपने एक अन्य दोस्त के साथ मिलकर की थी। महिला मित्र ने ही पहले प्रदीप को अपने घर बुलाया और उसे शराब पिलाई। जब वह नशे की हालत में पहुंचा तो प्रेमिका ने अपने नए प्रेमी के साथ मिलकर प्रदीप को मुंह दबाकर मार डाला। हत्या पर पर्दा डालने के नीयत से प्रदीप के शव को पास के कुंए में फेंक दिया गया। मंगलवार के कोतवाली पुलिस ने 24 घंटे के भीतर इस सनसनीखेज वारदात का खुलासा करते हुए प्रेमिका को गिरफ्तार कर लिया।

25 नवंबर को गायब हुआ,02 दिसंबर को कुंए में मिला शव

कोतवाली नगर क्षेत्र के विष्णुपुरी कालोनी का रहने वाला प्रदीप गुप्ता 25 नवंबर की रात के अचानक लापता हो गया था। इस मामले में प्रदीप के भाई सुरेश साहू ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सोमवार को क्षेत्र के अफीम कोठी के पास स्थित एक कुंए से प्रदीप का शव मिला तो हड़कंप मच गया था। प्रदीप के भाई ने इस मामले में एक युवती समेत दो लोगों के खिलाफ हत्या का आरोप लगाते हुए नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोपित की गई युवती को कोतवाली पुलिस ने वारदात के 24 घंटे के भीतर पकड़ लिया।

प्रेमिका की नई दोस्ती में बन रहा था रोड़ा

मृतक प्रदीप गुप्ता अपनी प्रेमिका मानसी की एक अन्य युवक से हुई नई दोस्ती में रोड़ा बन गया था। मंगलवार को इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार ने जो कहानी बताई वह रोंगटे खड़ा कर देने वाली है। एएसपी के अनुसार प्रदीप गुप्ता की दोस्ती अफीम कोठी के पास रहने वाली युवती मानसी चौरसिया से थी। दोनों के बीच प्रेम संबंध थे लेकिन इसी बीच मानसी की दोस्ती अंकित सिंह नाम के एक अन्य युवक से हो गई। प्रदीप मानसी व अंकित की दोस्ती का विरोध कर रहा था और वह मानसी पर अंकित से दोस्ती खत्म करने का दबाव बना रहा था। प्रदीप के इस टोका टाकी से परेशान मानसी ने अंकित के साथ मिलकर प्रदीप को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया।

मृतक प्रदीप गुप्ता(फाइल फोटो)

प्रेमिका ने नए दोस्त के साथ मिलकर पुराने प्रेमी को उतारा मौत के घाट

मर्डर के इस प्लान के तहत मानसी ने 25 नवंबर की रात में प्रदीप को पहले अपने घर बुलाया और उसे शराब पिलाई। जब प्रदीप नशे मे हो गया तो मानसी ने अंकित के साथ मिलकर उसका मुंह दबा दिया जिससे प्रदीप की सांस रुक गई और उसकी मौत हो गई। मामले पर पर्दा डालने के नीयत से दोनो ने प्रदीप के शव को पास के एक कुंए में फेंक दिया। छानबीन के बाद पुलिस ने मंगलवार को मानसी को गिरफ्तार कर 24 घंटे के भीतर इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा कर दिया। हालांकि अंकित फरार होने में सफल रहा। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अंकित की तलाश मे पुलिस टीम लगाई गई है। जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इस टीम को मिली सफलता

इस हत्याकांड के खुलासे में प्रभारी निरीक्षक आलोक राव,वरिष्ठ उपनिरीक्षक राजेश मिश्रा, कांस्टेबल राजेश कुसवाहा, सुजात कुमार व महिला कांस्टेबल लक्ष्मी व मीना चौरसिया शामिल रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular News

Breaking News