विधायक से रंगदारी मांग दोस्त को फंसाने की रची थी साजिश

तरबगंज विधायक से रंगदारी मांगने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस ने किया खुलासा

गोंडा। तरबगंज के भाजपा विधायक से रंगदारी मांगने वाले युवक ने अपने एक दोस्त को फंसाने की ख़ातिर यह साजिश रची थी। शनिवार को एफआईआर दर्ज होने के कुछ ही घंटों के भीतर पुलिस ने न सिर्फ रंगदारी मांगने वाले आरोपी को धर दबोचा बल्कि इस हाई प्रोफ़ाइल केस की खुलासा भी कर दिया। अपर पुलिस अधीक्षक ने प्रेस कांफ़्रेंस कर इसकी जानकारी दी।

प्रेम नारायण पांडेय- विधायक तरबगंज

तरबगंज सीट से भारतीय जनता पार्टी के विधायक प्रेम नरायण पांडेय के मोबाइल पर एक युवक ने पिछले 11 फरवरी को व्हाट्सएप मैसेज के जरिए 10 लाख रुपये का रंगदारी मांगी थी। रुपये न देने पर विधायक व उनके परिवार को आग लगा देने की धमकी दी थी। विधायक ने पुलिस को पूरे घटनाक्रम की जानकारी स्थानीय थाने समेत पुलिस के आला अफसरों को दी थी।साथ ही अज्ञात युवक के खिलाफ तरबगंज थाने मे एफआईआर दर्ज कराई थी। सत्तापक्ष के विधायक से रंगदारी मांगने की जानकारी होते ही पुलिस महकमे मे खलबली मच गई थी और मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर ने तरबगंज पुलिस के साथ सर्विलांस टीम को इसके खुलासे के लिए लगाया था। सर्विलांस टीम ने जब मोबाइल की लोकेशन ट्रेस की तो वह बाराबंकी जिले का निकला। इसके बाद पुलिस टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी को धर दबोचा।

पुलिस की गिरफ्त मे रंगदारी मांगने का आरोपी

दोस्त के आधार पर अपनी फोटो चिपकाकर लिया था सिमकार्ड

विधायक से रंगदारी मांगने वाले युवक की पहचान आनंद मिश्रा के रूप मे हुई है। वह बाराबंकी जिले के दरियाबाद थाना क्षेत्र के तारापुर गांव का रहने वाला है। आनंद ने पुलिस को बताया कि वजीरगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला मनोज कुमार उसके साथ लखनऊ मे रहता था। कुछ दिन पहले मनोज से उसका विवाद हो गया था। इसलिए उसने मनोज को फंसाने के लिए यह साजिश रची थी। आरोपी आनंद ने बताया कि पहले उसने मनोज के आधार कार्ड पर अपनी फोटो चिपकाकर सिमकार्ड हासिल किया और बाद मे उसी नंबर से तरबगंज विधायक प्रेमनरायण पांडेय को व्हाट्सएप मैसेज भेजकर 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी।

सर्विलांस टीम व तरबगंज पुलिस की संयुक्त टीम ने की कार्रवाई

अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार ने रविवार को इस हाई प्रोफ़ाइल केस का खुलासा करते हुए बताया कि पुलिस ने मोबाइल नंबर की पड़ताल की तो नंबर वजीरगंज थाना क्षेत्र के रहने वाले मनोज कुमार नाम के एक युवक का निकला लेकिन सिमकार्ड वाले फार्म पर फोटो दूसरे युवक की लगी थी। पड़ताल मे पता चला कि फोटो बाराबंकी जिले के दरियाबाद के रहने वाले आनंद मिश्रा की है। इसके बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी आनंद मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। आनंद को गिरफ्तार करने वाली टीम में तरबगंज कोतवाल समेत सर्विलांस टीम प्रभारी अतुल चतुर्वेदी,वजीरगंज के प्रभारी निरीक्षक संजय दूबे,सर्विलांस टीम के कांस्टेबल राजू सिंह व ह्रदय नारायण दीक्षित शामिल रहे।

इनपुट-दीपक त्रिपाठी (संवाददाता)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular News

Breaking News